क्या हेपेटाइटिस बी का इलाज संभव है?(Information About Hepatitis B)
क्या हेपेटाइटिस बी का इलाज संभव है

क्या हेपेटाइटिस बी का इलाज संभव है

दोस्तों क्या हेपेटाइटिस बी का इलाज संभव है ।hepatitis b यह एक viral संक्रमण रोग है जो कि hepatitis b virus के कारण फैलता है। सामान्य भाषा में इस Disease को लोग jaundice या फिर पीलिया भी कहते है। hepatitis b से पीड़ित कई Patients को लम्बे time तक कोई भी problem ना होने के कारण इसका पता भी नहीं चलता है। हेपेटाइटिस बी के infection के कारण हर साल liver ख़राब हो जाने के कारण 4000 से 5000 लोगो की death हो जाती है। विश्व में liver cancer के 50 % मामले hepatitis b की वजह से होते है। दोस्तों भारत में हर साल लाखों लोगो को hepatitis b का infection होता है। इन में से ज्यादातर लोगो में यह infection कुछ time के लिए ही होता है और फिर ठीक हो जाता है। और कुछ लोगो में यह infection लंबे time तक रहता है।

हेपेटाइटिस बी कैसे फैलता है

  • दोस्तों अब जान लेते है की hepatitis b कैसे फैलता है इसके क्या कारण है ?
  • hepatitis b यह एक viral disease है। जो की हेपेटाइटिस B नामक virus से फैलता है।
  • दोस्तों hepatitis B से संक्रमित(Infected) व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध(Unprotected sex) बनाने से भी हेपेटाइटिस बी फैलता है।
  • hepatitis B से संक्रमित सुई या उपकरण का इस्तेमाल करने से भी यह disease फैलता है।
  • दाढ़ी की ब्लेड(Beard blade) या फिर toothbrush जैसा व्यक्तिगत सामान संक्रमित व्यक्ति(Infected person) के साथ use करना।
  • गर्भावस्था में प्रसव यानि delivery के time संक्रमित माता के शिशु को hepatitis b हो सकता है।
  • blood transfusion करते समय ठीक से test ना किये जाने पर भी हेपेटाइटिस बी हो सकता है।
  • Friends ध्यान रहे गले मिलने,हाथ मिलाने,खांसी(cough) या फिर छींकने से hepatitis b नहीं होता है।
  • hepatitis b के प्रमुख लक्षण

  • दोस्तों अगर आपके liver में सूजन(liver swelling) या फिर जिगर में जलन हो रही है तो आपको हेपेटाइटिस बी हो सकता है।
  • दोस्तों vomiting यानि उलटी भी एक लक्षण है।
  • दीर्घकालिक hepatitis b के कारण सिरोसिस और liver cancer भी हो जाता है ।
  • दोस्तों अगर आपको भूख लगने में कमी , जी मिचलाना और vomiting जैसा होता हो तो ये भी एक symptoms है हेपॅटाइटिस बी के।
  • हल्का बुखार(mild fever) और गहरा पेशाब आना भी एक लक्षण है।
  • दोस्तों skin में खुजली(Skin itching) भी एक संभावना रहती है की आपको हेपेटाइटिस बी हो सकता है।
  • हेपेटाइटिस बी का आयुर्वेदिक इलाज इन हिंदी

    दोस्तों liver का work जो होता है वह blood purification का होता है। लेकिन Hepatitis B से लिवर कमजोर हो चूका होता है जिससे हमारा जिगर सही तरीके से काम नहीं कर पाता है। Hepatitis का सही treatment यही है कि हम liver के work को easy कर दिया जाए ताकि यकृत Hepatitis B के virus से लड़ सके। दोस्तों हमे ऐसे नुस्खे को अपनाना है जिससे हमारे liver को power मिले और हमारे blood से bilirubin की मात्रा को कम किया जा सके।

    आयुर्वेदिक इलाज 1

    मूली के पत्तों(Radish leaves) को धोकर मिक्सी में पीस ले फिर छानकर एक गिलास में रखे फिर इसमें 4 से 5 Black pepper यानि काली मिर्च पीसकर मिला लें। इसी तरह आपको day में 3 times इसको पीना है। दोस्तों मूली के पत्ते (Radish leaves) का सबसे अच्छा कार्य यह होता है कि यह blood में मिले bilirubin की मात्रा को कम कर blood को शुद्ध करते है। दोस्तों आप Radish को जब भी खाये इसको salad के रूप में खाये क्योंकि ये सलाद के रूप में खाने से आपको ज्यादा effective होगा।

    आयुर्वेदिक इलाज 2

    गन्ने का रस(sugarcane juice) जी हा दोस्तों आपको 5 से 6 glass sugarcane juice को पीना है इससे एक बहुत ही अच्छा benefit होगा दोस्तों बेनिफिट यह होगा की अगर आप 5 से 6 glass sugarcane juice को पीते है तो hemoglobin की मात्रा ठीक रहेगी इससे blood भी बनते रहेगा और साथ ही body को ताक़त भी मिलती रहेगी।

    आयुर्वेदिक इलाज 3

    नारियल पानी(coconut water) दोस्तों आपको day में at least 5 से 6 नारियल का पानी पीना है दोस्तों अगर आप 5 से 6 coconut water पि लेते हो तो blood में तरल पदार्थ की आपूर्ति हो जाएगी। coconut water यानि नारियल पानी blood में मिले bilirubin की मात्रा को कम करता है।

    आयुर्वेदिक इलाज 4

    एक निम्बू Morning में उठते ही गुनगुने water में निचोड़कर पीना है दोस्तों आपको इस निम्बू पानी को empty stomach यानि खली पेट ही पीना है। दोस्तों इसको drink करने से आपका stomach साफ़ हो जाएगा और blood भी साफ़ हो जाएगा। दोस्तों लेमन में antioxidant होता है जो body के toxic bilirubin को बाहर करता है। इससे liver को बहोत ही support मिलता हैं।

    आयुर्वेदिक इलाज 5(तुलसी पत्ता -Tulsi leaf)

    दोस्तों आपको day में one time afternoon में तुलसी के 15 से 20 पत्ते को तोड ले अब इन Leaves(पत्तों) को अच्छे से धो लीजिये फिर इन्हे चबा चबा कर खाना है। तुलसी पत्ता(Tulsi leaf) रोग प्रतिरोधक(Immunity) के रूप में कार्य करता है और हमारी प्रतिरोधक क्षमता को increase करने में help करता है।

    किशमिश(Raisins), गाजर(carrot) और चुकन्दर(sugar beets) को भी अपने खाने में include करें।

    Also Read

      Asthma ka Gharelu Ilaj(दमा का घरेलू इलाज कैसे करें )?
      Oily Skin Care in Hindi(तैलीय त्वचा की देखभाल कैसे करे)?
      Dried Apricot in Hindi(ये 10 फायदे सुखी खुबानी के जानते हो)?
      liver ki dawa(जानिये कौनसी दवा से 100% होगा फायदा)?
      Kidney Failure Symptoms in Hindi(गुर्दे की खराबी के लक्षण)?
      Dark Circles Treatment in Hindi(जानिये कैसे करें उपचार)?

    Note : इन tips को follow करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लेवें।

    Leave comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked with *.