(ये 10 कारण है मृदा प्रदुषण के )Sources of Soil Pollution in Hindi
sources of Soil Pollution in Hindi

sources of Soil Pollution in Hindi

Soil Pollution in Hindi

  • मिट्टी में जहरीले पदार्थ(Toxic substances) और दूषित सामग्री(Contaminated material) के मिल जाने के कारण मिट्टी(soil) दूषित(Contaminated) हो जाती है, इसे ही मृदा प्रदूषण या भूमि प्रदूषण कहा जाता है।
  • आज के जमाने में मिट्टी प्रदूषण(soil pollution) बहुत ही बड़ी समस्या बन चुकी है क्योंकि अपशिष्ट पदार्थों को मिट्टी के अंदर दबाया जा रहा है जिससे भूमि का दूषित होना वाजिब है।
  • जहरीले पदार्थों के शुद्ध मिट्टी(Soil) में मिल जाने से मिट्टी की गुणवत्ता(Quality) अच्छी नहीं रही है जैसे पहले हुआ करती थी।
  • मिट्टी प्रदूषण(Soil Pollution) के कारण लोगों के स्वास्थ्य(health) की समस्या का सामना करना पड़ रहा है
  • मिट्टी हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण प्राकृतिक संसाधन(natural resources) है जो हमें भगवान द्वारा उपहार के रूप में मिली है
  • भूमि प्रदूषण या मृदा प्रदूषण मानव के स्वास्थ्य(Health) पर गंभीर प्रभाव(Serious impact) डालता है।
  • जो मिट्टी बहुत शुद्ध(Pure) हुआ करती थी और उत्पादकता क्षमता बेहतर हुआ करती थी मिट्टी के प्रदूषण के कारण ही मिट्टी की उत्पादन क्षमता(production capacity) पर असर पड़ रहा है।
  • भूमि का जो जल होता है, मिट्टी प्रदूषण के कारण वह भी दूषित(Contaminated) होने लगता है।

sources of Soil Pollution in Hindi

  1. रासायनिक खाद से मृदा प्रदुषण
  2. कचरे से मृदा प्रदुषण
  3. मलबों से मृदा प्रदूषण
  4. पशुओं के मलत्याग से मृदा प्रदुषण
  5. उद्योग धंधो और कारखानों से मृदा प्रदुषण
  6. खनिज तेलों से मृदा प्रदुषण
  7. बरसात भी है मृदा प्रदूषण का कारण
  8. प्लास्टिक से मृदा प्रदुषण
  9. अम्ल वर्षा के कारण मृदा प्रदुषण
  10. मिट्टी का कटाव

रासायनिक खाद से मृदा प्रदुषण

  • रासायनिक खाद(chemical fertilizer) भी मिट्टी(soil) को बुरी तरह से दूषित कर रहे हैं ।
  • रासायनिक खाद(chemical fertilizer) का ज्यादा प्रयोग मिटटी की गुणवत्ता पर हानिकारक(Harmful) प्रभाव डाल रहे हैं।
  • बढ़ती हुई जनसंख्या की वजह से फसलों के उत्पादन(Crop production) को बढ़ाने के लिए तरह-तरह के और नए-नए रासायनिक उर्वरकों(Chemical fertilizers) का उपयोग करने से भी मिटटी में प्रदुषण समाते जा रहा है।
  • हम जो कृषि के लिए खेतों में कीटनाशक(Insecticide) का उपयोग करते हैं उससे भी भूमि विषैली होती जा रही है।
  • इसके साथ-साथ उर्वरकों(Fertilizers) का प्रयोग भी भूमि की विषाक्तता(Toxicity of the soil) बढ़ा रहा है ।
  • कीटनाशक(Insecticide) का प्रयोग भूमि के प्रदूषण में खतरनाक प्रभाव डाल रहा है ।
  • कीटनाशक हमारी मिट्टी की उपजाऊ क्षमता(Fertile capacity) में कमी ला रहा है।
  • खेतों में हम कृषि के लिए जो रासायनिक खाद(chemical fertilizer) का इस्तेमाल कर रहे हैं खाद की जगह हमारे मवेशियों द्वारा किया गया गोबर खाद(Dung manure) का उपयोग कर हम रासायनिक खाद(chemical fertilizer) से मुक्ति पा सकते हैं,इससे मिट्टी का प्रदूषण को रोकने में आसानी होगी।

कचरे से मृदा प्रदुषण

  • आज मनुष्य ही मिट्टी के प्रदूषण(Soil pollution) में ज्यादातर जिम्मेदार है क्योकि कि कचरा और गंदगी(Garbage and dirt) जगह – जगह फैलता जा रहा हैं जिससे मिट्टी भी प्रदूषित होती है और इस वजह से लोगों का स्वास्थ्य भी खराब हो जाता है ।
  • उद्योग धंधे, कारखाने और फैक्ट्रियों में रासायनिक(Chemical) और अन्य प्रकार के खतरनाक दूषित कचरे(Contaminated waste) निकलते हैं।
  • यह खतरनाक कचरा(hazardous wastes) किसी जगह पर डाल दिया जाता है।
  • यह खतरनाक कचरा के इतने दुष्प्रभाव है यह जिस स्थान पर भी डाला जाता है वहां पेड़ पौधे भी नहीं पनपते हैं ।
  • कचरे की डंपिंग(Garbage dumping) करने से गांव गांव और शहरों के घरों की समस्या मिट्टी के प्रदूषण हो रहा है।
  • यह कई रोगों के जन्म का कारण है जैसे डायरिया, मलेरिया, प्लेग आदि है।
  • अंधाधुंध तरीके से कचरे की डंपिंग करने से मानव में रोग(Disease) तेजी से फैलते जा रहे हैं।
  • हमारे घरों से जो कूड़ा कचरा, कांच , पुराने कपड़े और प्लास्टिक आदि फेका जाता है इस वजह से भी मिट्टी(soil) दूषित होती है।
  • कचरे(trash) को फेंकने के वजह से भी मिट्टी प्रदूषित होती है कचरे को कूड़ेदान(trash box) में डालना चाहिए जिससे हम भूमि प्रदूषण(land pollution) को रोक सके।

मलबों से मृदा प्रदूषण

  • मिट्टी प्रदूषण(soil pollution) का एक बड़ा कारण खनन को भी माना जाता है
  • इमारत में उपयोग होने वाले पत्थर, लोहा अयस्क तांबा आदि जैसे बहुमूल्य खनिजों के उत्खनन से जो मलबा निकलता है मलवा मिट्टी की उर्वरा शक्ति को खत्म कर देता है।
  • धीरे धीरे मलबा एकत्रित होते जाता है और विशाल रूप ले लेता है ।
  • खनन से जो मलबा निकलता है मलबे को थोड़ी सी दूर पर ही किसी स्थान में डाल दिया जाता है।
  • बारिश के मौसम में तो हाल यह हो जाता है कि इसका जो पानी होता है पानी के साथ मलबा मिलकर दूर-दूर तक भूमि को दूषित(Contaminate the land) कर देता है।

पशुओं के मलत्याग से मृदा प्रदुषण

  • एक कारण मिट्टी के प्रदूषण का यह भी देखा गया है कि खुले में जो पशु पक्षी मल मूत्र(Feces urine) त्याग करते हैं यह तो एक आम समस्या कई वर्षों से मिट्टी के प्रदूषण की वजह बनी हुई है।
  • पशुओं(animals) जो मल मूत्र(Feces urine) और गोबर आम सड़कों पर कर देते हैं,इससे मिट्टी प्रदूषित होती है।
  • इसका समाधान यह है कि मवेशियों द्वारा किए गए गोबर का इस्तेमाल ईंधन(Fuel) के रूप में किया जाए यह मिटटी प्रदुषण को रोकने(Preventing Soil Pollution) का बेहतर उपाय है।

उद्योग धंधो और कारखानों से मृदा प्रदुषण

  • मनुष्य के उद्योग धंधो(Industry businesses) एवं कारखानों(Factories) से निकले अपशिष्ट पदार्थों से मिट्टी का बहुत ही नुकसान हो रहा है अपशिष्ट बहुत ही खतरनाक प्रभाव भूमि पर डालते हैं ।
  • नए नए कारखानों(Factories) की स्थापना भूमि के प्रदूषण को बढ़ाती है ।
  • जो धूल सीमेंट(Cement) के कारखानों से निकलती है यह धूल वनस्पतियों पर पड़ने की वजह से उनकी वृद्धि में भी बाधा डालती है।

खनिज तेलों से मृदा प्रदुषण

  • कभी कभी अचानक किसी हादसा या दुर्घटना की वजह से खनिज तेल(mineral oil) सड़कों पर तथा भूमि पर फैल जाता है।
  • खनिज तेल(mineral oil) के फैलने से भूमि को बहुत ही क्षति पहुंचती है,और इससे मिटटी बहुत ही तेज़ी से दूषित(Contaminated) होती है।

बरसात भी है मृदा प्रदूषण का कारण

  • भूमि का प्रदूषण का एक कारण बरसात(rain) भी है बारिश का पानी जब जमीन पर गिरता है इससे हवा में उपस्थित प्रदूषक बारिश के माध्यम से जमीन पर आ जाते हैं और भूमि को प्रदूषित करते हैं।

प्लास्टिक से मृदा प्रदुषण

  • हमारे द्वारा निर्माण में से प्लास्टिक(Plastic) एक ऐसा पदार्थ है जो बहुत ही खतरनाक है यह हजारों वर्षों से यूं ही ही पड़ा रहता है।
  • जैसे दूसरे पदार्थ आसानी से विघटित(Decomposed) हो जाते हैं लेकिन प्लास्टिक विघटित नहीं होता है ।
  • दिन प्रतिदिन फक्ट्रियों में बनने वाला प्लास्टिक और अधिक हो चुका है,प्लास्टिक कम होने के बजाय उल्टा प्लास्टिक में बढ़ोतरी हो गयी है जो कि मिटटी के प्रदुषण(Soil pollution) के लिए गंभीर चुनौती बन गयी है ।
  • प्लास्टिक को बनाने के लिए के जहरीले केमिकल्स(Poisonous chemicals) का प्रयोग होता है और यह केमिकल मिट्टी में मिल कर मिट्टी को दूषित करने लगता है।
  • हम सब जानते हैं कि प्लास्टिक(Plastic) को भी घटित होने में 500 से 1000 वर्षो तक लग जाते हैं और यह प्लास्टिक मिट्टी में गाड़ दी जाती है,इससे भूमि का दुषित होना वाजिब है।

अम्ल वर्षा के कारण मृदा प्रदुषण

  • अम्ल की वर्षा(Acid rain) की वजह से मिट्टी का पीएच मान(PH value) बढ़ जाता है और मिट्टी का जो प्राकृतिक रुप होता है वहां अम्ल वर्षा के कारण अम्लीय(Acidic) में परिवर्तित हो जाती है।

मिट्टी का कटाव से मृदा प्रदुषण

  • मिट्टी का कटाव(soil erosion) भी भूमि प्रदूषण की एक बड़ी वजह मानी जाती है क्योंकि मिट्टी का कटाव जब होता है मिट्टी की जो उपजाऊ परत(Fertile layer) होती है उसे काफी नुकसान पहुंचता है।

मिटटी से फायदे

  • जैसे हमारे जीवन में जल और वायु का महत्व है उसी प्रकार हमारा जीवन भूमि यानी मिट्टी के बिना(Without soil) अधूरा सा है।
  • मिट्टी के ही द्वारा हमें कई प्रकार के सुख सुविधाओं का लाभ प्राप्त होता है।
  • हमारे भोजन की पूर्ति भी मिट्टी के द्वारा ही होती है मिट्टी के द्वारा ही हमें अनाज और सब्जियाँ(Cereals & Vegetables) प्राप्त होती है मिटटी ही अनाज की जननी कहलाती है।
  • सभी प्रकार के पेड़ पौधे मिट्टी के कारण ही फलते फूलते हैं एवं स्वास्थ्य(health) के लिए लाभदायक स्वादिष्ट फल(Delicious fruit) भी हमें मिट्टी से ही प्राप्त होते हैं।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.